ARTICLES

रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाने के मायने

शायद यही राजनीति की नरेंद्र मोदी शैली है। राष्ट्रपति पद के लिए अनुसूचित जाति समुदाय से आने वाले श्री रामनाथ कोविंद का चयन कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फिर बता दिया है कि जहां के कयास लगाने भी मुश्किल हों, वे वहां से भी उम्मीदवार खोज लाते हैं। बिहार के राज्यपाल और अरसे से भाजपा-संघ की राजनीति में सक्रिय रामनाथ ...

Read More »

डोनाल्ड ट्रंप ने पूरी दुनिया का पर्यावरण संतुलन बिगाड़ दिया

पर्यावरण दिवस से ठीक पहले पेरिस समझौते से पीछे हटकर अमेरिका ने पूरी दुनिया का पर्यावरण संतुलन बिगाड़ने का काम किया है। रस्म अदायगी के तौर पर विश्व पर्यावरण दिवस तो इस वर्ष भी मनाया जायेगा लेकिन इससे ठीक चार दिन पहले अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प का यह बयान विश्व भर के देशों एवं समस्त पर्यावरणविदों को हैरत में ...

Read More »

विश्व में आतंकवाद के प्रसारक पाकिस्तान पर कड़ी कार्रवाई जरूरी

पाकिस्तान एक ऐसा मुल्क़ है जिसका अस्तित्व किसी भी सभ्य समाज के लिए अभिशाप है। दुनिया में आतंकवाद को पनाह देने से लेकर उसका पालन पोषण करने में सारी ताकत लगा देता है पाकिस्तान। इन तथ्यों से ऐसा लगता है उसकी अर्थव्यवस्था ही आतंकवाद का पालन पोषण करने से चलती है। इसलिए इस मुल्क को आतंक की फैक्ट्री कहें तो ...

Read More »

लालबत्ती के आतंक से मुक्ति की नई सुबह

देश में वीवीआईपी कल्चर को खत्म करने के लिए नरेंद्र मोदी कैबिनेट ने ऐतिहासिक निर्णय लिया है। इस फैसले के बाद शान समझी जाने वाली लालबत्ती वाहनों पर लगाने का अधिकार किसी के पास नहीं होगा। इस निर्णय से राजनीति की एक बड़ी विसंगति को न केवल दूर किया जा सकेगा, बल्कि ईमानदारी एवं प्रभावी तरीके से यह निर्णय लागू ...

Read More »

इसलिए लगातार चुनाव हारती जा रही है आम आदमी पार्टी

लम्बे समय से दिल्ली नगर निगम के चुनाव में दो ही पार्टियों का दबदबा था बीजेपी और कांग्रेस। लेकिन 2013 से आम आदमी पार्टी ने जिस तरह से धमाकेदार एंट्री की, दोनों पुरानी पार्टियों की चूलें हिल गयीं। हालाँकि ‘आप’ के उभार का सर्वाधिक खामियाजा कांग्रेस पार्टी को भुगतना पड़ा था, क्योंकि कांग्रेस के वोटर्स ‘आप’ के सपोर्टर्स बन गए ...

Read More »

सियासत-साहित्य दोनों में दखल रखते हैं हृदय नारायण दीक्षित

उत्तर प्रदेश विधानसभा के नवनिर्वाचित अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित विचारक के रूप में प्रतिष्ठित हैं। प्रायः इस स्तर के विद्वान जमीनी राजनीति में उतरने से बचते हैं। अध्ययन, लेखन और सक्रिय राजनीति के बीच समन्वय बनाना आसान नहीं होता। दोनों की प्रकृति अलग है। दोनों के लिए अलग−अलग भरपूर समय की अवश्यकता होती है। यह माना जाता है कि एक ...

Read More »

खुल गया 2019 का रास्ता

-रमेश ठाकुर- पाकिस्तान ने अखिलेश यादव का समर्थन कर उत्तर प्रदेश की आवाम से उनके पक्ष में वोट देने का आहवान करना भी उनकी हार का मुख्य कारण हो सकता है। सपा-कांग्रेस की यह हार उसी की संयुक्त प्रतिक्रिया है। भाजपा का जीतना पाक की नापाक चाल को संकेत है। हार के और भी कई कारण हो सकते हैं लेकिन ...

Read More »

चुनावी चक्कलस पर भारी मिडियाई बतरस

चुनाव आयोग की कृपा से पांच राज्यो के चुनाव निर्धारित समय सीमा और निर्धारित व्यय सीमा में समाप्त हो चुके है और इसी के साथ लोकतंत्र के सबसे बड़े पर्व के एक और सीजन का समापन हुआ। ये पर्व, बड़ा कर्व लिए हुए होता है। लोकतंत्र का ये सीजन, आमजन के लिए बड़ा ही पशोपेश और परेशानी भरा होता है ...

Read More »

मतदाता सांप की बीन की तरह वायदों पर कब तक झूमते रहेंगे

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों में असली परीक्षा राजनीतिक दलों की नहीं बल्कि मतदाताओं की है। विधानसभा चुनाव में तकरीबन 16 करोड़ मतदाताओं को राजनीतिक दलों की पंचवर्षीय योजना के मूल्यांकन की परीक्षा देनी है। उन्हें साबित करना है कि राजनीतिक दलों के प्रत्याशियों को चुनने का पैमाना कितना विवेकसम्मत और तार्किक है। राजनीतिक दल तरह−तरह के प्रलोभनों की दुकानें ...

Read More »

भारतीय वैज्ञानिक कर रहे प्लाज्मा की निवारक शक्ति का उपयोग

गांधीनगर में साबरमती के तट पर अमूल डेयरी और एक अस्पताल के बीचोंबीच एक ऐसा संस्थान स्थित है, जो ठोस, द्रव या गैस नहीं बल्कि पदार्थ की चौथी अवस्था यानी प्लाज्मा से जुड़ी गतिविधियों को अंजाम देता है। इंस्टीट्यूट ऑफ प्लाज्मा रिसर्च के वैज्ञानिक आज न सिर्फ इंसानों के उपचार के लिए बल्कि पृथ्वी के उपचार के लिए भी प्लाज्मा ...

Read More »
giay nam depgiay luoi namgiay nam cong sogiay cao got nugiay the thao nu