RELIGION

श्रावण मास की महत्ता और शिवजी को प्रसन्न करने के उपाय

श्रावण शिवजी का विशिष्ट प्रिय मास है। श्रद्धालु इस पूरे मास शिवजी के निमित्त व्रत और प्रतिदिन उनकी विशेष पूजा आराधना करते हैं। इस वर्ष के श्रावण मास में कुछ विशेष योग भी हैं। जैसे इस बार का श्रावण माह पांच सोमवार को है और यह माह सोमवार से शुरू होकर सोमवार को ही खत्म होगा। यह माह मनोकामनाओं का ...

Read More »

इस प्रकार सृष्टि की रचना की भगवान ब्रह्मा जी ने

ब्रह्मा जी ने आदि देव भगवान की खोज करने के लिए कमल की नाल के छिद्र में प्रवेश कर जल में अंत तक ढूंढा। परंतु भगवान उन्हें कहीं भी नहीं मिले। ब्रह्मा जी ने अपने अधिष्ठान भगवान को खोजने में सौ वर्ष व्यतीत कर दिये। अंत में ब्रह्मा जी ने समाधि ले ली। इस समाधि द्वारा उन्होंने अपने अधिष्ठान को ...

Read More »

श्री जगन्नथ रथयात्रा का आध्यात्मिक ही नहीं सांस्कृतिक महत्व भी

आषाढ़ शुक्ल की द्वितीया को ओडिशा व गुजरात सहित देश के अनेकानेक हिस्सों में निकाली जाने वाली भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा का विशेष महत्व है। इस दिन ओडिशा की सड़कों पर तिल रखने की भी जगह नहीं होती। समूचा ओडिशा ही नहीं पूरा देश रथयात्रा को देखने के लिए उतावला रहता है। इस पर्व का पर्यटन की दृष्टि से ...

Read More »

बालाजी धाम आकर देखिये कैसे दूर हो जाते हैं सारे कष्ट

हजारों लोगों की आस्था, श्रद्धा और विश्वास का धार्मिक स्थल सालासर बालाजी धाम भगवान हनुमानजी को समर्पित हैं। यह पवित्र धाम राजस्थान के राष्ट्रीय राजमार्ग 65 पर चुरू जिले में सुजानगढ़ के समीप सालासर नामक स्थान पर स्थित है। सालसर धाम सालासर कस्बें के मध्य में अवस्थित है। यहां प्रतिवर्ष हजारों श्रद्धालु देश कोने−कोने से प्रतिदिन मनोकामना लेकर बालाजी के ...

Read More »

साढ़े साती चल रही है तो करें शनि की विशेष पूजा

आमतौर पर धारणा है कि शनि समस्या प्रदान करने वाले देवता हैं जबकि वास्तविकता यह है कि शनि न्यायप्रधान देवता हैं। शनि सभी के साथ न्याय करते हैं। भारतीय समाज में शनि को लेकर बहुत-सी भ्रातियां हैं। शनि की साढ़े साती को लेकर विशेष उत्सुकता व भय का वातावरण रहता है। आजकल ज्योतिष की विभिन्न पत्रिकाओं की भरमार है। टीवी ...

Read More »

सत्य ही हमें स्वर्ग तक पहुंचाता है

महाभारत के उद्योग पर्व में लिखा है- सत्य स्वर्गस्य सोपान पारावा रस्नौरिव। -अर्थात् जिस प्रकार नाव का आश्रय व्यक्ति को समुद्र पार करा देता है, उसी प्रकार सत्य व्यक्ति को संसार-सागर से पार कर स्वर्ग तक पहुंचा देता है। यह एक सारपूर्ण सिद्धान्त है। सत्य का मार्ग देखने और चलने में कठिन और दुरूह प्रतीत होता है किन्तु सत्य जैसा ...

Read More »

देव ऋषि नारद को रहती है दुनिया के हर कोने की खबर

देव ऋषि नारद या नारद मुनि ब्रह्माजी के पुत्र और भगवान विष्णु के बहुत बड़े भक्त हैं। वह इधर की बात उधर करके, दो लोगों के बीच आग लगाने के लिये काफी प्रसिद्ध हैं। माना जाता है कि उन्हें सब खबर रहती है कि सम्पूर्ण ब्रह्माण्ड में कहाँ क्या हो रहा है। मुंह पर नारायण नारायण और हाथ में वीणा ...

Read More »

पराक्रम और सत्य की राह दिखाते हैं भगवान परशुराम

हिंदू संस्कृति व इतिहास में संतों व पर्वों का अद्वितीय स्थान है। भारत की धरती संतों की उर्वरा धरती है। ऐसे ही एक महान समाज सुधारक संत शिरोमणि भगवान परशुराम का उल्लेख रामायण, महाभारत, भागवत पुराण एवं कल्कि पुराण आदि ग्रंथों में मिलता है। मान्यता है कि भगवान परशुराम ने अहंकारी और दुष्टों का पृथ्वी से 21 बार सफाया करने ...

Read More »

इस वर्ष भी अमरनाथ यात्रा को लेकर श्रद्धालुओं में भरपूर उत्साह

कुछ इसे स्वर्ग की प्राप्ति का रास्ता बताते हैं तो कुछ मोक्ष प्राप्ति का। लेकिन यह सच है कि अमरनाथ, अमरेश्वर आदि के नामों से विख्यात भगवान शिव के स्वयंभू शिवलिंगम के दर्शन, जो हिम से प्रत्येक पूर्णमासी को अपने पूर्ण आकार में होता है, अपने आप में दिल को सकून देने वाले होते हैं क्योंकि इतनी लंबी यात्रा करने ...

Read More »

भगवान श्रीराम के जन्म का महोत्सव है रामनवमी

चैत्र मास की शुक्ल पक्ष की नवमी को भगवान श्रीराम का जन्म हुआ था। इस दिन पूरे देश भर में श्रीराम जन्मोत्सवों की धूम रहती है साथ ही हिंदुओं के लिए यह दिन अंतिम नवरात्र होने के कारण भी काफी महत्वपूर्ण होता है। इस दिन देवी की विशिष्ट पूजा, हवन और कन्या पूजन भी किया जाता है। गोस्वामी तुलसीदास ने ...

Read More »
giay nam depgiay luoi namgiay nam cong sogiay cao got nugiay the thao nu