RELIGION

सभी यज्ञों के पुरोहित माने जाते हैं अग्निदेव

अग्नि देवता यज्ञ के प्रधान अंग हैं। ये सर्वत्र प्रकाश करने वाले एवं सभी पुरुषार्थों को प्रदान करने वाले हैं। सभी रत्न अग्नि से उत्पन्न होते हैं और सभी रत्नों को यही धारण करते हैं। वेदों में सर्वप्रथम ऋग्वेद का नाम आता है और उसमें प्रथम शब्द अग्नि ही होता है। अतः यह कहा जा सकता है कि विश्व साहित्य ...

Read More »

स्वयं भवानी विराजती हैं विन्ध्यवासिनी देवी शक्तिपीठ में

भारत के उत्तर प्रदेश प्रांत में पवित्र धाम वाराणसी और इलाहाबाद के बीच मिर्जापुर जनपद है। मिर्जापुर शहर से आठ किलोमीटर दूर पश्चिम की ओर मां विन्ध्यवासिनी देवी का शक्तिपीठ है। कहा जाता है कि स्वयं भवानी इस स्थान पर विराजती हैं। यहां प्रत्येक वर्ष लाखों श्रद्धालु आते हैं और मैया के चरणों में सिर झुकाकर अपनी अभिलाषायें पूर्ण करते ...

Read More »

देवोत्थनी एकादशी के दिन से शुरू हो जाते हैं शुभ कार्य

कार्तिक शुक्ल एकादशी को देवोत्थनी एकादशी के नाम से भी जाना जाता है। हिन्दू मान्यताओं के अनुसार, इस दिन से विवाह, गृह प्रवेश तथा अन्य सभी प्रकार के मांगलिक कार्य आरंभ हो जाते हैं। एक पौराणिक कथा के अनुसार भगवान विष्णु ने भाद्रपद मास की शुक्ल एकादशी को महापराक्रमी शंखासुर नामक राक्षस को लम्बे युद्ध के बाद समाप्त किया था ...

Read More »

सभी अभिलाषायें पूर्ण करती हैं माँ विन्ध्यवासिनी

भारत के उत्तर प्रदेश प्रांत में पवित्र धाम वाराणसी और इलाहाबाद के बीच मिर्जापुर जनपद है। मिर्जापुर शहर से आठ किलोमीटर दूर पश्चिम की ओर मां विन्ध्यवासिनी देवी का शक्तिपीठ है। कहा जाता है कि स्वयं भवानी इस स्थान पर विराजती हैं। यहां प्रत्येक वर्ष लाखों श्रद्धालु आते हैं और मैया के चरणों में सिर झुकाकर अपनी अभिलाषायें पूर्ण करते ...

Read More »

क्यों पाठ-पूजा में जरूर बजाना चाहिए शंख?

उज्जैन। हिन्दू धर्म में पूजा परंपराओं के अलावा कई खास मौकों पर शंख नाद यानी शंख बजाना मंगलकारी माना गया है। इन अवसरों पर शंख से पैदा ध्वनि के बड़े ही शुभ प्रभाव होते हैं। पौराणिक मान्यताओं के मुताबिक शंख नाद यानी शंख बजाने का फल शत्रुओं को भी मात देने वाला व लक्ष्मी को प्रसन्न करता है। खासतौर पर ...

Read More »

१३ दिसंबर को है लक्ष्मी कृपा पाने का दिन, ये १३ उपाय अवश्य करें

उज्जैन। लक्ष्मी की कृपा के लिए इस शुक्रवार, 13 दिसंबर को एक खास तिथि आ रही है। इस तिथि पर किए गए चमत्कारी उपाय का फल बहुत ही जल्द प्राप्त होता है। हिन्दी पंचांग के अनुसार शुक्रवार को अगहन मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी है। इस एकादशी को मोक्षदा एकादशी कहा जाता है। महाभारत के युद्ध में इस तिथि ...

Read More »

आप जानते हैं,जप में माला का प्रयोग क्यों होता है

आपने देखा होगा कि बहुत से लोग ध्यान करने के लिए और भगवान का नाम जपने के लिए माला का प्रयोग करते हैं। कुछ लोग उंगलियों पर गिन कर भी ध्यान जप करते हैं। लेकिन शास्त्रों में माला पर जप करना अधिक शुद्घ और पुण्यदायी कहा गया है। इसके पीछे धार्मिक मान्याताओं के अलावा वैज्ञानिक कारण भी है। धार्मिक दृष्टि ...

Read More »

धरती पर ब्रह्मा जी का निवास पुष्कर तीर्थ

जयपुर के दक्षिण पश्चिम में स्थित अजमेर हिन्दू-मुस्लिम धर्म का संगम स्थल रहा है। अजमेर हिन्दू तीर्थ यात्रियों में उतना ही लोकप्रिय है जितना कि मुसलमानों में। अजमेर से मात्र 14 किलोमीटर की दूरी पर स्थित पुष्कर मंदिरों और झीलों के लिए प्रसिद्घ है। अरावली पर्वत श्रृंखला का नाग पर्वत अजमेर और पुष्कर को अलग करता है। यह भगवान ब्रह्मा ...

Read More »

खास है यह सोमवार, जन्मदिन मनाएंगे शिव के यह अवतार

सोमवार भगवान शिव का दिन माना जाता है। इस पर शुभ संयोग यह है कि सोमवार 25 नवंबर को माशीर्ष कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि भी है शास्त्रों में इस दिन को भगवान काल भैरव का जन्मदिन बताया गया है। काल भैरव भगवान शिव के रौद्र रूप हैं। इसलिए यह सोमवार विशेष शुभ फलदायी है। काल भैरव के विषय में ...

Read More »

पटाखे, मिठाई और दीपों वाली दीपावली

दीपावली नजदीक है। त्योहारों के इस मौसम में भला कौन तुम्हें मस्ती करने से रोक सकता है। हम भी यही कहेंगे कि दोस्तों के साथ जमकर मजे करो। पर ये याद रखना कि जो भी करो एक हद में करना, अगर यादा मस्ती की, तो भुगतना भी पड़ सकता है तुम्हें। कैसे, बता रहे हैं पंकज घिल्डियाल रविवार को दीपावली ...

Read More »
giay nam depgiay luoi namgiay nam cong sogiay cao got nugiay the thao nu