RELIGION

सभी एकादशियों का फल प्रदान करती है निर्जला एकादशी

ज्येष्ठ शुक्ल एकादशी को निर्जला एकादशी कहते हैं। इस दिन महिलाएं एवं पुरुष अन्न, फल और यहां तक कि जल के बिना पूरे दिन उपवास करते हैं। इसी कारण इस एकादशी का सर्वाधिक महत्व है। इस एकादशी का व्रत करने से आयु और अरोग्य में वृद्धि होती है और उत्तम फलों की प्राप्ति होती है। महाभारत में कहा गया है ...

Read More »

यहां हनुमानजी को अर्जी लिखो, होगी मनोकामना पूरी!

दरभंगा आपने हनुमान मंदिरों में जाने वाले श्रद्धालुओं को लड्डू, अगरबत्ती और फूल सहित कई पूजन सामग्री ले जाते तो देखा होगा, लेकिन बिहार के दरभंगा में एक ऐसा हनुमान मंदिर है, जहां लोग लिखने के लिए कलम भी साथ लेकर आते हैं। मान्यता है कि इस मंदिर की दीवारों पर मुराद लिखने वाले श्रद्धालुओं की मनोकामना जरूर पूरी होती ...

Read More »

पुराणों के अनुसार पितृभक्ति का महत्व

पिता-पुत्र के संबंधों को उजागर करते हमारे पुराण हमें कई तरह की शिक्षा प्रदान करते हैं। वे हमें अपने पिता की आज्ञा, वचन का पालन, पिता का मान-सम्मान बरकरार रखने तथा पिता की आज्ञा मानने का आदेश एवं शिक्षा देते हैं। प्रस्तुत है कुछ पौराणिक पिता-पुत्र से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारियां… राम और दशरथ की पितृ-भक्ति अयोध्या के राजसिंहासन के सर्वथा ...

Read More »

पावन पर्व गंगा दशहरा

हिन्दू धर्म में ऐसी मान्यता है कि गंगा दशहरा के पावन पर्व पर मां गंगा में डुबकी लगाने से सभी पाप धुल जाते हैं और मनुष्य को मोक्ष की प्राप्ति होती है। वैसे तो गंगा स्नान का अपना अलग ही महत्व है, लेकिन इस दिन स्नान करने से मनुष्य सभी दु:खों से मुक्ति पा जाता है। इस पर्व के लिए ...

Read More »

8 जून को शनि जयंती पर विशेष ,शनि जयंती का महत्व और फल

सूर्यपुत्र की आराधना का महापर्व शनिवार के दिन शनि जयंती से इस पर्व का महत्व एवं फल अनंत गुणा हो जाता है। ज्ञान, बुद्धि एवं प्रगति के स्वामी गुरु का भी शनि के नक्षत्र में होने से इस वर्ष का शनि जन्मोत्सव दिवस आलस्य, कष्ट, विलंब, पीड़ानाशक होकर भाग्योदय कारक बनाने के लिए दुर्लभ अवसर है। इस पर्व का लाभ ...

Read More »

मोहिनी एकादशी , श्रीराम , भगवान विष्णु , कथा , व्रत

वैसाख मास की शुक्ल पक्ष की एकादशी मोहिनी एकादशी कहलाती है। इस बार मोहिनी एकादशी 21मई दिन मंगलवार को पड़ रही है। आपको बता दें कि इस दिन भगवान पुरुषोत्तम श्रीराम की पूजा की जाती है। व्रत के दिन भगवान की प्रतिमा को श्वेतवस्त्र पहनाये जाते हैं। मोहिनी एकादशी व्रत विधि- इस दिन भगवान विष्णु के साथ-साथ भगवान श्रीराम की ...

Read More »

भगवान बुद्ध ओर उनके सन्देशों का अमृत

बुद्ध पुर्णिमा वैशाख मास की शुक्ल पक्ष की पुर्णिमा का दिन है। इसी शुभ दिन भगवान बुद्ध ने नेपाल के लुंबिनी नामक स्थान में 563 ईसा वर्ष पूर्व जन्म लिया। यह वही दिन है जिस दिन 528 ईसा वर्ष पूर्व उन्होंने बोधगया में एक वृक्ष के नीचे यह जाना कि सत्य क्या है? और इसी दिन कुशीनगर में 483 ईसा ...

Read More »

भक्ति-शक्ति और विजयश्री के दाता हैं रेणुकानंदन परशुराम

भगवान विष्णु के छठे अवतार रेणुकानंदन भगवान परशुराम का जन्म वैशाख मास की शुक्लपक्ष की तृतीया को महर्षि जमदग्रि व माता रेणुका के घर में हुआ। विलक्षण बुद्धि, चेहरे पर अद्भुत तेज व अत्यंत बलशाली परशुराम के बचपन का नाम राम था, त्रिलोकीनाथ नीलकंठधारी भगवान भोलेनाथ ने अपने परमप्रिय राम को युद्ध की कलाओं में निपुण करने के उपरांत ‘परशा’ ...

Read More »
giay nam depgiay luoi namgiay nam cong sogiay cao got nugiay the thao nu