‘1.25 मिलीयन डॉलर ब्रैम्पटन स्टाफ  फंड की कोई जानकारी उपलब्ध नहीं’

अमान्य भुगतान के लिए सारी जानकारी पुलिस को भेजी गई, होगी उचित कार्यवाही
मिसिसॉगा। नगरपालिका की जांच टीम ने भी ब्रैम्पटन स्टाफ फंड की अनुचित डील को स्वीकार कर लिया हैं, उनके अनुसार इस प्रकार की कोई डील हुई ही नहीं हैं जिसमें कर्मचारियों को कोई आर्थिक लाभ दिया गया हो। सिटी अधिकारियों द्वारा इस पूरी घटना की उचित जांच के लिए एक टीम का गठन कर दिया गया हैं, जिसे सभी सूचनाएं व दस्तावेज उपलब्ध करवाएं जाएंगे, जिससे इस घोटाले की पूरी छानबीन हो सके। 1.25 मिलीयन डॉलर के स्टाफ बोनस की वैधता को साबित करने में सिटी ऑफ ब्रैम्पटन ने अपनी असमर्थता प्रकट कर दी हैं, जिससे यह घोटाला बहुत बड़े स्तर का प्रतीत होने वाला हैं, जिसमें कई दिग्गजों के शामिल होने की संभावना जताई जा रही हैं। लेकिन काउन्सिलरस ने यह भी स्पष्ट कर दिया हैं कि यदि इस घोटाले में किसी भी प्रकार की कानूनी अवहेलना की गई होगी तो इसकी पुलिस जांच भी प्रारंभ हो सकती हैं। प्रांतीय काउन्सिलर मार्टिन मैडेरॉज ने बताया कि हमारे आंतरिक अंकेक्षकों ने बहुत बढ़िया काम किया, और इतने बड़े घोटाले को भांपते हुए इसकी पूर्ण जानकारी दी, यद्यपि अभी यह बात स्पष्ट नहीं हुई हैं कि यह घोटाला पूर्व काउन्सिल अधिकारियों द्वारा ही किया गया हैं, परन्तु संदेह सभी पर हो रहा हैं। गौरतलब हैं कि  एक बार फिर से सिटी की ऑडिट कमेटी ने एक बड़े घोटाले का पर्दाफाश किया, जिसके अंतर्गत पूर्व सिटी स्टाफ  द्वारा बोनस फंड में भारी लापरवाही और भ्रष्टाचार का सबूत देते हुए लगभग 1.25 मिलीयन डॉलर का घोटाला किया, आंतरिक ऑडिट रिपोर्ट के अनुसार ”फेवरीजम” नाम से यह खर्चा लेखा पुस्तकों में दर्शाया गया, जिसमें गैर-यूनियन को बोनस के रुप में 1.25 मिलीयन डॉलर की राशि अनुमोदित की गई, परन्तु यह राशि केवल स्टाफ ने आपस में ही बांट ली यूनियनस तक यह राशि पहुंची ही नहीं। वरिष्ठ अधिकारी बाउल्ड ने बताया कि मेरे पिछले 40 वर्ष के कार्यकाल के दौरान अभी तक इस प्रकार का कोई भी गुप्त समझौता नहीं हुआ हैं, जिसमें स्टाफ को इतनी बड़ी राशि मुहैया करवाई गई हों।
giay nam depgiay luoi namgiay nam cong sogiay cao got nugiay the thao nu