एनडीए का हिस्सा बना जदयू, अमित शाह ने किया स्वागत

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में जदयू ने आज अपनी राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में एक प्रस्ताव पारित किया जिससे पार्टी के राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) में औपचारिक तौर पर शामिल होने का रास्ता साफ हो गया। इस बाबत घोषणा करते हुए पार्टी के प्रधान महासचिव के.सी. त्यागी ने पार्टी में किसी तरह की फूट से साफ इनकार किया। गौरतलब है कि नीतीश के भाजपा के साथ मिलकर बिहार में सरकार बनाने से जदयू के वरिष्ठ नेता शरद यादव नाखुश हैं और उनकी अगुवाई में पार्टी का एक गुट आज पटना में अपनी अलग बैठक कर रहा है। त्यागी ने पत्रकारों को बताया, ‘‘जदयू अध्यक्ष नीतीश कुमार की अध्यक्षता में हुई पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में एनडीए का हिस्सा बनने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी गई।’’ उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय कार्यकारिणी ने राजद-जदयू-कांग्रेस के महागठबंधन से जदयू के बाहर निकलने के पार्टी की बिहार इकाई के फैसले पर भी मुहर लगाई। नीतीश की अगुवाई वाले जदयू ने जुलाई के आखिरी हफ्ते में महागठबंधन से नाता तोड़कर भाजपा के साथ सरकार बना ली थी। त्यागी ने कहा, ‘‘हमारे अध्यक्ष नीतीश कुमार के साथ हाल में एक मुलाकात में भाजपा के अध्यक्ष अमित शाह ने उनसे जदयू को एनडीए में लाने का अनुरोध किया था। राष्ट्रीय कार्यकारिणी ने इसे मंजूरी दी और अब हम एनडीए का हिस्सा हैं।’’ पत्रकारों से बातचीत के दौरान त्यागी के साथ पार्टी के नेता आर.सी.पी. सिंह, हरिवंश और पवन वर्मा भी थे। त्यागी ने पार्टी में किसी तरह की फूट से साफ इनकार किया।

 त्यागी ने कहा कि 20 प्रदेश इकाइयों में से 16 के अध्यक्षों, बिहार के 30 विधान पार्षदों और शरद यादव की सहमति से नीतीश की ओर से नियुक्त पार्टी की समितियों के सभी पदाधिकारी राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में शामिल थे और इस फैसले का हिस्सा बने। उन्होंने कहा, ‘‘तो जदयू में फूट कैसे हो सकती है?’’ त्यागी ने कहा कि पार्टी शरद पर किसी तरह की कार्रवाई शुरू करने से पहले 27 अगस्त को पटना में होने जा रही राजद की रैली का इंतजार करेगी। जदयू ने दिन में एक खुले सत्र का आयोजन किया जिसमें मुख्यमंत्री एवं पार्टी अध्यक्ष नीतीश मौजूद थे और उन्होंने इसे संबोधित किया। शरद ने राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में हिस्सा नहीं लिया और अपनी अगुवाई में आयोजित ‘जन अदालत’ नाम के एक कार्यक्रम में शिरकत की। इस कार्यक्रम में पार्टी के निलंबित राज्यसभा सांसद अली अनवर अंसारी ने भी शिरकत की। कार्यक्रम में महागठबंधन में बने रहने का वादा किया गया। उधर, नीतीश कुमार के नेतृत्व वाले जदयू के राजग में शामिल होने के निर्णय का स्वागत करते हुए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने आज कहा कि इससे बिहार में विकास के नये युग का सूत्रपात होगा। जदयू ने अपनी राष्ट्रीय कार्यकारणी की बैठक में पारित प्रस्ताव में राजग का हिस्सा बनने का निर्णय किया। शाह ने कहा, ”मैं जदयू के राजग में शामिल होने के निर्णय का स्वागत करता हूं क्योंकि इससे न केवल राजग को मजबूती मिलेगी बल्कि बिहार के विकास के नये युग का सूत्रपात भी होगा।’’
giay nam depgiay luoi namgiay nam cong sogiay cao got nugiay the thao nu