आपके लिए बड़े काम के हैं ये टेक टिप्स, आजमा कर देखें

1. ऑफलाइन विडियो कैसे देखें:- अपने पसंदीदा यू-ट्यूब विडियो को बार-बार देखने से आपके डाटा और बैंडविथ का बिल बहुत ज्यादा आने लगता है। तो आप विडियो को अपने कंप्यूटर से डाउनलोड कर लें और उन्हें ऑफलाइन देखें। इसके लिए आपको यू-ट्यूब के यूआरएल में थोड़ा सा बदलाव करना होगा। उस लिंक में एसएस जोड़ दें, उदाहरण के तौर पर अगर आपके विडियो का यूआरएल youtube.com/watch?v=R9xoj0E3ZO0 है तो आपको यू-ट्यूब के यूआरएल में थोड़ा बदलाव करना होगा। उसमें अगर SS जोड़ दें तो आपको यू-ट्यूब लिंक ऐसा बनाना पड़ेगा “ssyoutube.com/watch?v=R9xoj0E3zO0 । इसके बाद आपके सामने ऑप्शन की लिस्ट ओपन हो जाएगी और आप जिस फॉरमेट में विडियो डाउनलोड करना चाहेंगे, बड़ी आसानी से आप कर सकेंगे।

2. पॉप-अप से कैसे पाएं छुटकारा:- जब भी हम ब्राउज़िंग करते हैं तो वेबसाइट्स पर ऊल-जुलूल व चिड़चिड़ाहट पैदा करने वाले पॉप-अप विज्ञापनों से परेशान हो जाते हैं। ये विज्ञापन ना सिर्फ आपके कीमती डाटा को खत्म कर देते हैं बल्कि आपका महत्वपूर्ण समय भी बरबाद कर देते हैं। इनसे बचने के लिए क्रोम और फायरफॉक्स ब्राउज़र में इनका हल मौजूद है, एक प्ल्ग-इन के रूप में जिसका नाम है ऐडबल्क प्ल्स। इसे इंस्टाल करें और विज्ञापन को हमेशा के लिए भूल जाएं। इसे इंस्टाल करने के लिए एप्प क्रोम के वेब स्टोर में जाएं, क्रोम वेबस्टोर में जाने के लिए ये लिन्क है chrome.google.com/webstore/category/extensions?hI=hi यहां सर्च बॉक्स में ऐडब्लॉक प्ल्स को ढूंढें और फिर इंस्टाल करें।
3. स्लो ब्राउज़र सोल्यूशन:- अक्सर हमारा ब्राउज़र चलते-चलते बहुत स्लो होने लगता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि आपके ब्राउज़र में बहुत सारा वेब डाटा भर जाता है और उसकी स्पीड को प्रभावित करने लगता है। इसके लिए आप Ctrl+Shift+Del प्रेस कर के कुछ समय तक के स्टोर्ड किए गए वेब डाटा जैसे कुकिज़, पासवर्ड, कैच मेमोरी को डिलीट कर सकते हैं। और इस तरह आपका ब्राउज़र फिर से सही स्पीड में काम करने लगेगा।
4. किसी दूसरे कंप्यूटर पर संभल कर करें काम:- अगर आप किसी और शख्स के कंप्यूटर का इंटरनेट इस्तेमाल कर रहे हैं तो हमेशा इनकॉग्निटो विंडो में ही करें। इनकॉग्निटो विंडो आपका पासवर्ड, कूकीज़, हिस्ट्री को सेव नहीं करता है। इसके इस्तेमाल से एक तो आपका प्राइवेट डाटा को डीलीट करने की ज़रूरत नहीं होती और आपकी ज़रूरी जानकारियां चोरी होने का डर भी नहीं रहता है। इनकॉग्निटो विंडो को क्रोम और फायरफॉक्स में खोलने के लिए Ctrl+Shift+N दबाएं।
आमतौर पर एंड्रॉयड स्मार्टफोन्स वायरस की गिरफ्त में ही आते हैं। कुछ ऐसे ऐड्स होते हैं जो आपको गलत जानकारी देते हुए दिखाता है कि आपके फोन में वायरस है और इसे ठीक करने के लिए हरा एप्प डाउनलोड कर लें। इसके अलावा कई बार फोन में कई तरह की गड़बड़ियां भी आ जाती हैं, जिससे वह ठीक से काम नहीं करता। मगर इसका मतलब ये नहीं है कि एंड्रॉयड फोन एकदम सेफ होते हैं, इनमें भी वायरस आ सकते हैं। इनको कैसे हटाएं इसकी कुछ ज़रूरी जानकारियां नीचे बताई जा रही हैं-
1. अपना फोन फैक्ट्री रिसेट कैसे करें:-  अगर आप अपने फोन को फैक्ट्री रिसेट करना चाहते हैं तो अपने स्मार्टफोन की सेटिंग्स में जाएं और सेक्युरिटी ऑप्शन में जाकर अननोन सोर्सेस (allow installation of apps from unknown source) को डिसेबल करें। आप एंटिवायरस एप्प से भी इंस्टाल कर सकते हैं। 360 मोबाइल सेक्युरिटी और अवास्ट जैसे बहुत से ऐसे एप्स हैं। अगर कोई ऐसा कोई वायरस एप्प में आ जाए जो अनइंस्टाल नहीं हो रहा है तो फैक्ट्री रिसेट करें। ये एप्प अपने आप हट जाएगा मगर इसके साथ और दूसरी एप्स और कुछ डाटा भी साफ हो जाएगा। फोन बिल्कुल वैसा हो जाएगा जैसा ये नया खरीदने पर मिला था।
2. बिना डाटा डिलीट किए हटाएं वायरस:- अपने स्मार्टफोन या टेबलेट को सेव मोड पर रन करें, इस मोड में थर्ड पार्टी एप्स और वायरस रन नहीं कर सकते। सेफ मोड में फोन को कैसे रन करना है, इसके लिए गूगल पर सर्च करें How to put (फोन का मोडल नं. डालें) into safe mode सर्च करें और जैसे इंस्ट्रक्शन्स मिलते हैं उन्हें फॉलो करें। सेफ मोड में जाने के बाद आपको स्क्रीन के लेफ्ट बॉटम में सेफ मोड लिखा दिखेगा। अब सेटिंग में जाकर एप्स पर जाएं और डाउनलोडेड टैब खोलें। यहां चैक करें कि कौन-कौन से एप्प को आपने अनइंस्टाल नहीं किया है या फिर जो एप्प हट नहीं रहा है उसे खोजें, उस एप्प पर टैप करें और उसे अनइंस्टाल कर दें। इससे ज्यादातर वायरस हट जाते हैं। मगर कई बार कुछ एप्स का अनइंस्टाल बटन ग्रे नज़र आता है। ऐसा तब होता है जब वायरस ने खुद को एडमिन स्टेटस दे दिया हो।
3. कैसे हटाएं एडमिन स्टेटस वायरस?:- अगर आपने अपना स्मार्टफोन सेफ मोड पर रन कर रखा है और जिस एप्प का अनइंस्टाल बटन नहीं दिख रहा हो उसे हटाने के लिए एप्प को एक्ज़िट करें और सेटिंग्स में सेक्युरिटी> डिवाइस एडमिनिस्ट्रेटर्स में जाएं। यहां पर उन एप्प की लिस्ट मिल जाएगी, जिन्हें एडमिनिस्ट्रेट स्टेटस मिला है। आप जिन एप्स को हटाना चाहते हैं उनका स्टेटस टैप करके हटा दें। इसके बाद आप वापस एप्स मेन्यू में जाएं और अनइंस्टाल पर टैप करके उस वायरस इफेक्टेड एप्प को हटा दें। अब सेफ मोड से बाहर जाने के लिए फोन को रिस्टार्ट कर दें।
तो ये थी टेक से जुड़ीं कुछ खास ट्रिक्स। इस तरह के टिप्स को अगर आप इस्तेमाल करते वक्त ध्यान में रखें तो आपके कई कम आसान हो जाएंगे। हां, इन ट्रिक्स को सावधानी से यूज़ करें। कभी-कभी इधर-उधर से कोई भी एप्प डाउनलोड ना करें, साथ ही कोई एंटी-वायरस अपने स्मार्टफोन या कंप्यूटर में हमेशा इंस्टाल कर के रखें।

Leave a Reply

giay nam depgiay luoi namgiay nam cong sogiay cao got nugiay the thao nu