नए लोगों से पील बोर्ड मिलेगा नए रुप में

मिसिसॉगा। कहा जाता हैं कि समय के साथ सब परिवर्तित होता हैं और इसी प्रकार 1970 के पश्चात से मिसिसॉगा में भी विकास कार्य तेजी से बढ़ रहे हैं। पीटर जोशुआ ने माना कि जब वह एक छात्र के रुप में पील डिस्ट्रीक्ट स्कूल बोर्ड में पढ़ते थे और आज प्रशासनिक कार्यों में जुट गए हैं। नए शैक्षणिक निदेशक के पद पर उन्होंने संदेश दिया कि सबकुछ बदल गया हैं परन्तु फिर भी वह अहसास नहीं बदला। उन्होंने अपने पूर्व अध्यापकों और सहपाठियों को याद करते हुए कहा कि आज भी उनकी याद मेरे दिल में हैं जो कभी नहीं भुलाई जा सकती। गौरतलब हैं कि जोशुआ का परिवार 1960 में भारत से कैनेडा आया था, उस समय पीयरसन कॉनवेन्शन सेंटर बहुत ही कमजोर था। परन्तु धीरे धीरे यहां विकास कार्यों की अधिकता होने से इतने कम समय में ही इन्होंने अद्वितीय प्रतिभा हासिल की। हमारी नई रणनीतियों में हम अश्वेत छात्रों को भी शिक्षा का बराबर मौका देंगे जिससे कैनेडा की संस्कृति के अनुसार मिश्रित युग ही इसे और अधिक विकसित करेंगे। बोर्ड द्वारा यह निश्चित किया जाएगा कि इन छात्रों को खुलकर मौका दिया जाएं जिससे इस यूनिवर्सिटी में और अधिक लाभान्वित क्षण सामने आएं, इस बार उनकी नई योजनाओं में छात्रों को मानसिक स्वास्थ्य की शिक्षा भी देने का विचार किया जा रहा हैं, जिससे भविष्य में वह अपने जीवन में कभी भी मानसिक रोगों का शिकार न हो पाएं, जोशुआ ने अपनी आगामी रणनीति में यह भी बताया कि उनका विचार एलजीबीटीक्यू छात्रों को भी अपनी योजना में शामिल करने का विचार हैं।
giay nam depgiay luoi namgiay nam cong sogiay cao got nugiay the thao nu