छोटे व्यापारियों को राहत

प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रुडो ने छोटे उद्यमों पर कर बदलावों को उचित ठहराया 
टोरंटो। प्रधानमंत्री जस्टीन ट्रुडो द्वारा धनी छोटे व्यापारियों को करों में राहत को उचित नहीं बताया गया। उनकी सरकार की नई योजना के अंतर्गत ऐसे व्यापारियों से उचित कर लेना ही देश के आर्थिक विकास के लिए उत्तम होगा। प्रधानमंत्री ने टाउनहॉल में दो महिला डॉक्टरों के सवालों का जवाब देते हुए इस योजना पर रक्षात्मक टिप्पणी दी और कहा कि इसका प्रभाव उन व्यापारियों पर नहीं पड़ेगा जो अपने उद्यम से अधिक कमाते हैं, इसकी बढ़ोत्तरी से मध्यम वर्ग के कैनेडियनस पर इसका अच्छा प्रभाव होगा जो कड़ी मेहनत के बाद कुछ अर्जित कर पाता हैं, उसे करों में और अधिक राहत देने की योजना बनाई जा रही है। मोनिका पैनर नामक महिला डॉक्टर ने प्रधानमंत्री से प्रशन किया कि कैसे एक मेहनतकश और ईमानदार कैनेडियन और अधिक कर वहन कर सकेगा और किस प्रकार एक छात्र इस कर का भुगतान अपनी पढ़ाई के साथ दे सकेगा। इसके प्रतिउत्तर में ट्रुडो ने कहा कि यह कर व्यवस्था इस प्रकार की गई है कि इसका भुगतान केवल धनी छोटे व्यापारी ही करेंगे और इसका सीधा लाभ मेहनती व ईमानदार करदाताओं को मिलेगा। प्रधानमंत्री ने इस बात को स्पष्ट किया कि मध्यम वर्ग के व्यापारियों पर इसका कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। गौरतलब हैं कि कैनेडा में छोटे व्यापारियों को करों में भारी छूट दी जाती हैं, जिसके कारण दो प्रकार की व्यापारिक श्रेणियां बन गई हैं और इससे बहुत से व्यापारी कर नीति के कारण आयकर भरने में बच जाते हैं। उन्होंने आगे कहा कि जी7 देशों की तुलना में कैनेडा के छोटे व्यापारियों को सबसे अधिक करों में छूट दी जाती हैं, और ऐसा इसलिए किया जाता हैं कि जिससे अधिक से अधिक व्यापार विकसित हो और रोजगार का सृजन हो सके, लेकिन वर्तमान कर नीति विकास की तुलना में बहुत कम हैं, जिसे बढ़ाना ही इसका अंतिम उपाय होगा। लेकिन जानकारों का मानना हैं कि वर्तमान कर नीति में सभी के लिए बदलाव उचित नहीं, जो नए छोटे व्यापारी होंगे उन्हें इस नीति से लाभ होने के स्थान पर हानि होगी, जिसके कारण वे अपना व्यापार बढ़ा नहीं सकेंगे, इसलिए हमें इस प्रकार की योजना बनानी होगी कि सभी वर्गों को उसका विशेष्ज्ञ लाभ हो।
giay nam depgiay luoi namgiay nam cong sogiay cao got nugiay the thao nu