फिल्मों के मुकाबले टीवी का सफलता अनुपात ज्यादा: वत्सल सेठ

लोकप्रिय टीवी-फिल्म अभिनेता वत्सल सेठ का कहना है कि फिल्मों की तुलना में टेलिविजन ज्यादा सफल माध्यम है। वत्सल ने 90 के दशक के कार्यक्रम “जस्ट मोहब्बत” से बाल कलाकार के रूप में अपने अभिनय करियर की शुरूआत की थी। इसके बाद वह कुछ फिल्मों में भी नजर आए जिसमें “टार्जन: द वंडर कार”, “यू मी और हम”, “जय हो” आदि शामिल हैं। उन्होंने “एक हसीना थी” और “रिश्तों का सौदागर” जैसे टीवी सीरियलों में अभिनय जारी रखा। छोटे पर्दे के सफलता अनुपात के बारे में वत्सल ने कहा, “टीवी ने निश्चित रूप से पिछले कुछ सालों में काफी विकास किया है। अगर आप टीवी और फिल्म की तुलना करते हैं तो टीवी का सफलता अनुपात फिल्मों से ज्यादा है।“ 10 या 20 फिल्मों में से केवल एक हिट होती है, जबकि टीवी पर कोई कार्यक्रम बमुश्किल ही असफल होता है। आज के दौर में टीवी का माध्यम, कहानी, प्रस्तुतीकरण, कार्यक्रम की बनावट और पात्र के संदर्भ में बदल गया है। टीवी की पहुंच बहुत ज्यादा है।” वत्सल बहुत जल्द सोनी एंटरटेनमेंट चैनल के नए कार्यक्रम ‘‘हासिल” में नजर आएंगे। यह कार्यक्रम 30 अक्तूबर से प्रसारित होगा।

giay nam depgiay luoi namgiay nam cong sogiay cao got nugiay the thao nu