अबॉरशन क्लीनिकों पर कठोर कार्यवाही करेगा ओंटेरियो

इस प्रकार बिल पहली बार पारित किया गया, जिसे दोनों विपक्षियों के धमकाने पर लिबरलस द्वारा पारित करने का मूड बनाया गया, कंजरवेटिवस और एनडीपी दोनों नेताओं ने मांग की थी महिलाओं के स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों को रोका जाएं और महिलाओं के अधिकारों को एक राजनैतिक खेल न बनाया जाएं। 
टोरंटो। सभी पार्टियों के सहयोग के पश्चात ओंटेरियो द्वारा फास्ट ट्रेक के अंतर्गत अबॉरशन क्लीनिकों पर कठोर कार्यवाही किए जाने का प्रावधान किया जाएगा,  बिल की प्रस्तावना के पश्चात सभी राजनैतिक दलों द्वारा इसके विभिन्न पहलुओं पर गौर किया जाएगा। वैधानिक सूचना के अनुसार 50 और 150 मीटर के दायरे में आठ अबॉरशन क्लीनिक हैं, इन क्लीनिकों में यदि कोई भी महिला मरीज प्रवेश नहीं करें, तो वास्तव में इसकी कार्य प्रणाली को गहरा धक्का पहुंचेगा। महिला सशक्तिकरण के लिए सभी पार्टियां एकजुट हैं, और यहीं चाहती हैं कि महिलाओं के लिए अधिक से अधिक कार्य हो, जिससे उनका विकास हर स्तर पर हो सके। सूत्रों के अनुसार बिल की प्रस्तावना इसी माह के अंत तक होने की संभावना हैं जिसका निर्णय सत्ताधारी लिबरलस और विपक्षी पार्टियों के मध्य किया जाना हैं।  पैट्रीक ब्राउन के अनुसार उनकी पार्टी इस विषय पर लिबरलस के साथ हैं, परंतु उन्होंने लिबरलस पर आरोप लगाते हुए कहा कि सत्ताधारी पार्टी अन्य सामाजिक मुद्दों पर भी ध्यान दें और इसके लिए वह गहन चर्चा के लिए भी तैयार हैं। प्रोगरेसीव कंजरवेटिवस का मानना हैं कि इस बिल को अगले दिन ही पारित किया जाएं इसके लिए किसी प्रकार की चर्चा या कमेटी बिठाने की कोई आवश्यकता ही नहीं परंतु इस प्रस्ताव को लिबरलस ने खारिज कर दिया। अर्टोनी जनरल यासिर नकवी ने कहा कि लिबरलस भी इस बिल को शीघ्र ही पारित करवाना चाहती हैं, परंतु वे इसे उचित प्रकार से नियम के अनुसार लागू करवाने की पक्ष में हैं। इस प्रकार के बिल को पूर्ण रुप से संवैधानिक मुद्दों पर ध्यान रखते हुए पारित करना होगा, अर्टोनी जनरल के रुप में कोई भी नहीं चाहेगा कि किसी भी प्रकार से असंवैधानिक रुप से इसे पारित किया जाएं।
giay nam depgiay luoi namgiay nam cong sogiay cao got nugiay the thao nu