BSF की हिरासत में है पाकिस्तानी बच्चा, माता-पिता को वीजा देने को भारत तैयार

बता दें कि बीएसएफ ने इस साल के मई में इस लड़के को अपने हिरासत में लिया था और उसे फरीदकोट के एक निगरानी घर में रखा गया था। ट्वीट की एक श्रृंखला में मंत्री ने कहा है कि भारत, पाकिस्तान द्वारा लड़के की नागरिकता की पुष्टि के इंतजार मे हैं। पाकिस्तानी पत्रकार मेहर तरार की एक प्रतिक्रिया ने सुषमा स्वराज का अपनी ओर ध्यान खींचा था। तरार ने कहा था कि पाकिस्तान के सियालकोट के पासुर क्षेत्र से हम्माद हसन कुछ महीने पहले लापता हुआ है। सुषमा ने कहा कि फरीदकोट के निगरानी घर में करीब 12 साल का एक बच्चा है। मई 2017 में बीएसएफ ने उसे हिरासत में लिया था। हम पाकिस्तान की तरफ से उसकी नागरिकता पुष्टि करने का इंतजार कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मेरी जानकारी यह कहती है कि मास्टर हम्माद हसन 2013 से लापता है और नाबालिग हमारे पास 2017 से है। मंत्री ने कहा कि अगर लड़के के माता पिता को लगता है कि वह उनका बेटा है तो भारत उन्हें वीजा देने के लिए तैयार है और वह भारत आकर बच्चे से मिल सकते हैं।

Leave a Reply

giay nam depgiay luoi namgiay nam cong sogiay cao got nugiay the thao nu