इजरायल ने यरुशलम पर ट्रंप के निर्णय को ‘ऐतिहासिक’ बताया

नेतान्याहू ने कहा कि ट्रंप के इस निर्णय से ‘प्राचीन लेकिन चिरस्थायी सत्य’ के प्रति अमेरिका की प्रतिबद्धता जाहिर होती है। इसके साथ ही नेतान्याहू ने अन्य देशों से भी अमेरिकी के उदाहरण का पालन करने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि इससे पवित्र स्थलों की यथास्थिति में कोई बदलाव नहीं होगा। यरुशलम यहूदियों, मुसलमानों और ईसाइयों के पवित्र स्थलों का गढ़ है। उन्होंने यह भी कहा कि वह फिलिस्तीनियों के साथ ‘शांति प्रक्रिया आगे बढ़ाने’ के लिए प्रतिबद्ध हैं।

Leave a Reply

giay nam depgiay luoi namgiay nam cong sogiay cao got nugiay the thao nu