न्यूनतम मजदूरी नियमों को सख्ती से पालन करवाएगा ओंटेरियो 

टोरंटो। ओंटेरियो द्वारा इस बात का पूर्ण वचन दिया गया कि कंपनियों से न्यूनतम मजदूरी के नियमों का सख्ती से पालन करवाया जाएगा, और जिन कंपनियों द्वारा श्रम कानूनों को तोड़ा जाएगा उन पर सख्ती बरती जाएगी, लेकिन इस क्षेत्र से संबंधित कुछ लोगों का मानना हैं कि लिबरल सरकार द्वारा उन्हें बलि का बकरा बनाया गया हैं और इस प्रकार की बढ़ोत्तरी करके उनके उद्योगों को समाप्त करने की योजना हैं। गौरतलब हैं कि 1 जनवरी से प्रांतों में न्यूनतम मजदूरी 11.60 डॉलर प्रति घंटे से बढ़ाकर 14 डॉलर प्रति घंटा कर दी गई हैं और आगामी 2019 में इसे और बढ़ाकर 15 डॉलर प्रति घंटा कर दिया जाएगा। इसके अलावा और भी कई सुधारों के साथ श्रमिकों को लाभ दिया गया हैं। लघु व्यवसाईयों को विशेष तौर पर इस बढ़ोत्तरी से अवगत करवाते हुए कहा गया कि वे इसे पारदर्शिता से पालन करें अन्यथा उन पर कठोर कार्यवाही हो सकती हैं।
श्रम मंत्री केवीन फ्लाइन ने इस पर नियंत्रण करने के लिए इस विषय को विधानसभा में भी उठाया गया, लेकिन कुछ व्यापारियों द्वारा इस बढ़ोत्तरी के प्रभाव से अपने कर्मचारियों को बचाने के लिए अन्य उपाय सुझाए जा रहे हैं जिस पर श्रम मंत्री और प्रीमियर कैथलीन वीन ने उन्हें ”बुलींगÓÓ का नाम दिया।  जो अपनी धौंस के प्रभाव से कर्मचारियों को बेरोजगारी की धमकी देकर पुराने श्रमिक पर ही कार्य करने पर मजबूर कर रहे हैं। कुछ व्यापारी इस प्रभाव को कम करने के लिए अपने कर्मचारियों को पदमुक्त भी कर रहे हैं जोकि बिल्कुल गलत हैं, ऐसे वातावरण को हमें रोकना होगा और इसके लिए योजना बनानी होगी। श्रम मंत्रालय का मानना हैं कि श्रम सुधारों को प्रभाव में लाने के लिए सरकार हरसंभव प्रयास करेगी इसके लिए वह उचित जांच भी करवा सकती हैं और न मानने वाली संस्थाओं पर कठोर कदम उठाया जा सकता हैं, जो इस नियम कानून को तोड़ रहे हैं या इससे बचने के लिए अन्य उपायों का सहारा ले रहे हैं।  प्रीमियर कैथलीन वीन ने फोन पर पत्रकारों को बताया कि इसके लिए किसी भी व्यवसाय में ‘धौंस जमाने वालोंÓ की जगह नहीं होगी कोई भी कर्मचारी इसके लिए शिकायत कर सकता हैं और उस पर जल्द ही कार्यवाही होगी।

Leave a Reply

giay nam depgiay luoi namgiay nam cong sogiay cao got nugiay the thao nu